मथुरा की बेटी का अनोखा ‘आत्मनिर्भर’ अभियान

बीते मंगलवार को देश में चल रहे लॉक डाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘आत्मनिर्भर भारत’ की एक नई उम्मीद और योजना प्रस्तुत की। लेकिन, मथुरा की एक बेटी साल 2017 से ही महिलाओं के लिए इस तरह का अनोखा अभियान चला रही है।

पुणे से स्नातक पावनी खंडेलवाल ने करीब तीन साल पहले ‘आत्मनिर्भर’ स्कूटर ड्राइविंग स्कूल फॉर वीमेन की शुरुआत की। वर्तमान में इसकी शाखाएं मथुरा के अतिरिक्त उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कई शहरों में मौजूद हैं। भविष्य में पूरे देश में दोपहिया ड्राइविंग स्कूल शुरू करने की भी योजना है। इन ड्राइविंग स्कूलों की खास बात यह है कि इनमें प्रशिक्षकों की भूमिका में सिर्फ महिलाएं होती हैं। इस अभियान के अंतर्गत महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए विशेष प्रशिक्षण उपलब्ध कराने की व्यवस्था है। अब तक 5500 से अधिक महिलाओं को इसके तहत आत्मनिर्भर बनाया जा चुका है। यहां से प्रशिक्षित करीब 150 से ज्यादा महिलाएं विभिन्न स्थानों पर अपनी सेवाएं दे रही हैं।

पावनी देशभर में महिलाओं के लिए मुफ्त वर्कशॉप का आयोजन करती रही हैं। महिला उद्यमिता के विषय पर पावनी दुनियाभर में अनेक आयोजनों में भारत का प्रतिनिधित्व भी कर चुकी हैं। मथुरा में महिला उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए उन्होंने ‘आत्मनिर्भर विमेंस एसोसिएशन’ का भी गठन किया है। पावनी ने उद्यमिता की पढ़ाई इंडियन स्कूल ऑफ बिज़नेस, नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर और त्सिंघुआ यूनिवर्सिटी बीजिंग से की है।

मथुरा की राधा वैली निवासी पावनी का मानना है कि आगामी समय में भारत के लिए बहुत अच्छे अवसर मिलेंगे और उद्यमी महिलाएं इसका फायदा उठा सकती हैं।


Related Items

  1. दसवीं और आईटीआई पास युवाओं के लिए रेल मंत्रालय चलाएगा बड़ा भर्ती अभियान


loading...